“आज का सबसे बड़ा गंभीर चिंतन”

Haridwar News

“आज का सबसे बड़ा गंभीर चिंतन” का विषय कुम्भ मेले का आयोजन किस प्रकार सुरक्षित रुप से किया जाए, इसके लिए क्या केवल सन्त समाज की सहमति ही आवश्यक है ? इस पर विचार करने के लिए सनातनधर्मियों व पुरोहितों का प्रतिनिधित्व करने वाली “भारत रत्न” महामना पंडित मदनमोहन मालवीय जी द्वारा स्थापित 104 वर्ष प्राचीन एकमात्र संस्था श्री गँगा सभा रजि.को बैठक में बुलाकर विचार नही किया जाना चाहिए था ? सेवा समिति,भारत स्काउट एंड गाईड,धर्मशालाओं के प्रतिनिधि,होटल एसोसिएशन, ट्रैवल्स व्यवसायी व व्यापार मण्डल के सुझाव लिए जाने आवश्यक नही हैं ? क्या हिन्दू धर्मालंबियों व तीर्थ पुरोहितों का प्रतिनिधित्व करने वाली हरिद्वार में एक मात्र संस्था श्री गँगा सभा रजि.को बैठक में विचारार्थ बुलाया नही जाना चाहिये था ? अब लगता है कि कुम्भ मेले के समस्त निर्णय सन्त समाज के सुझाव पर ही लिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *