हाथरस की घटना के विरोध में फूंका उत्तर प्रदेश सरकार का पुतला

Uncategorized

लालकुआं नैनीताल से अजय उप्रेती की रिपोर्ट

प्रगतिशील महिला एकता केंद्र, परिवर्तनकामी छात्र संगठन, प्रगतिशील युवा संगठन, इंकलाबी मजदूर केंद्र व सर्व श्रमिक निर्माण कर्मकार संगठन ने संयुक्त रुप से आज कार रोड बिंदुखत्ता में हाथरस की घटना के विरोध में जुलूस निकालकर अश्लील उपभोक्तावादी संस्कृति व उत्तर प्रदेश सरकार का पुतला दहन किया।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि अभी हाथरस के अंदर एक 20 साल की लड़की से सामूहिक बलात्कार कर उसके साथ जघन्य अपराध किया है। यह कृत्य करने वाले गाँव के ही दबंग लोग हैं। महिलाओं के साथ बढ़ती हिंसा की जिम्मेदार पितृसत्तात्मक मूल्य मान्यताएं जिसमें महिलाओं को समाज में बराबरी का अधिकार नहीं मिलता। इसलिए अपराधी इसलिए यह बलात्कारी दरिंदे उनको अपनी हवस का शिकार बना लेते हैं। और महिला हिंसा की जिम्मेदार उपभोक्तावादी अश्लील संस्कृति है। जो फिल्में, गाने, सीरियल, पोर्न साइट्स जो खुलेआम शोशल मीडिया में घूम रहे है ऐसे माध्यम है। जो महिलाओं को इंसान की जगह उपभोग करने वाली वस्तुओं के रूप में प्रस्तुत करते हैं। इससे समाज के अंदर इस तरह के विकृत मानसिकता के लोग पैदा होते हैं। जो इस तरह की हिंसाओं को अंजाम देते हैं। अपराधियों को जन्म दे रही है। आज महिला हिंसा के विरोध में हम सभी को हम सभी मजदूर-मेहनतकशों, छात्रों-नौजवानों, महिलाओं को एकजुट होकर इसके खिलाफ संघर्ष करना होगा और इस तरह की मानसिकता के खिलाफ लड़कर ही हम इन घटनाओं को रोक सकते हैं।

कार्यक्रम में पुष्पा, महेश, पंकज, रमेश, मनोज, शीला, आरती, सुधा, विमला, कमला, शोभा, इंद्रा, तुलसी, भावना, गुड्डू, प्रेम प्रकाश, संजय कोहली, सुरेंद्र प्रसाद, हेमा, रेखा, उमेद राम, इंद्र पाल, लझमण धपोला सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *