मस्तिष्क और शरीर की एकता का प्रतीक है योग: डाॅ. बत्रा

expressindian haridwar news expressindian uttarakhand news

योग है भारत की प्राचीन परम्परा का अमूल्य उपहार: प्रो. भारद्वाज
 मस्तिष्क और शरीर की एकता का प्रतीक है योग: डाॅ. बत्रा

हरिद्वार 23 मई, 2022 

एस.एम.जे.एन. काॅलेज के व्याख्यान कक्ष में आज काॅलेज के आन्तरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ द्वारा ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ एवं अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस-2022 हेतु योग विशेषज्ञ द्वारा ‘योग पर विशेष चर्चा’ व्याख्यान का आयोजन किया गया।
विशेषज्ञ प्रो. ईश्वर भारद्वाज, एकेडेमिक डीन देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार ने योग के महत्व पर प्रकाश डालते हुए छात्र-छात्राओं को अपने सम्बोधन में कहा कि आज योग को पूरे विश्व में असाध्य रोगों से निपटने के लिये अपनाया जा रहा है, हम जैसे-जैसे अपनी संस्कृति से दुनिया को अवगत करायेंगे, महाशक्ति के रूप में उभरते जायेंगे। प्रो. भारद्वाज ने सूर्यास्त से पूर्व भोजन पर बल देते हुए बताया कि हार्टअटैक, मधुमेह, श्वास जैसी गम्भीर बीमारियों में दवा के साथ-साथ योग का भी अभ्यास करा जाये तो बेहद सकारात्मक नतीजे सामने आयेंगे। उन्होंने कहा कि योग के आठ अंग यम, नियम, प्राणायाम, आसन, ध्यान, धारणा, प्रत्याहार एवं समाधि के अन्तर्गत सम्पूर्ण जीवन का सार एवं जीवनशैली को प्रतिबिम्बित करता है। प्रो. ईश्वर भारद्वाज ने सही भोजन व आहार लेने की छात्र-छात्राओं से अपील की। डॉ भारद्वाज ने छात्र छात्राओं से जंक फूड के सेवन नहीं करने का आग्रह किया.
काॅलेज प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि योग कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी सहित विभिन्न बीमारियों से लड़ने में कारगर है और इसकी वैज्ञानिक पुष्टि भी होती है। योग भारत की प्राचीन परम्परा का एक अमूल्य उपहार है, यह मस्तिष्क और शरीर की एकता का प्रतीक है। योग को साधना का माध्यम बताते हुए डाॅ. बत्रा ने कहा कि योग भारत में हजारों वर्ष पुरानी सभ्यता व संस्कृति है जिसके द्वारा अनेक प्रकार की असाध्य रोगों का निदान सम्भव है। योग साधना में पारंगत छात्र-छात्रायें इसे रोजगार आजीविका साधन के रूप में अपना सकते हैं।
अधिष्ठाता छात्र कल्याण अधिष्ठाता डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने कहा कि वर्तमान में योग की महत्व को देखते हुए महाविद्यालय में पन्द्रह दिवसीय एक योग-शिविर दिनांक 06 जून, 2022 से 20 जून, 2022 तक चलाया जायेगा। इच्छुक छात्र-छात्रा दिनांक 31 मई, 2022 तक अपना योग-शिविर के लिए रजिस्ट्रेशन करवा लें। महाविद्यालय द्वारा प्रतिभागी छात्र-छात्राओं को योग शिविर का प्रतिभाग प्रमाण-पत्र, योगा किट, योगा मेट एवं योगा कैप भी प्रदान की जायेगी।
मुख्य अनुशासन अधिकारी डाॅ. सरस्वती पाठक कहा कि योग के माध्यम से शरीर, मन और मस्तिष्क को पूर्ण रूप से स्वस्थ किया जा सकता है। तीनों के स्वस्थ रहने से आप स्वयं को स्वस्थ महसूस करते हैं। इससे पूर्व मुख्य अतिथि का फूल मालाओं से स्वागत किया गया।
इस अवसर डाॅ. मन मोहन गुप्ता, डाॅ. तेजवीर सिंह तोमर, डाॅ. जे.सी. आर्य, डाॅ. नलिनी जैन, डाॅ. सुषमा नयाल, विनय थपलियाल, पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष एवं शहर व्यापार मण्डल महामंत्री अमन शर्मा, डाॅ. रजनी सिंघल, डाॅ. लता शर्मा, श्रीमती रिचा मिनोचा, डाॅ. रीना मिश्रा, डाॅ. मनोज सोही, डाॅ. शिवकुमार चैहान, विनीत सक्सेना, डाॅ. रेनू सिंह, अमिता मल्होत्रा, डाॅ. विजय शर्मा, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरियाल, डाॅ. प्रज्ञा जोशी, डाॅ. पुनीता शर्मा, डाॅ. पदमावती तनेजा, अंकित अग्रवाल, एम.सी. पाण्डेय, महिमा नागयान, नेहा गुप्ता, डाॅ. विनीता चैहान, रूचिता सक्सेना, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. आशा शर्मा, प्रिंस श्रोत्रिय, संतोष, कु. पूजा, योगेश्वरी सहित काॅलेज की पूर्व छात्र हिमांशी, वर्तमान छात्र साक्षी, कृतिका शर्मा, प्रियंका पासवान, अनु, पूजा जैसवाल, रनबीर, मनोज कुमार, गोविन्द सिंह, आशीष कुमार, तनीषा बुराकोटी, अनन्या शाह, रेशु, विनय शर्मा, रचना पाल, भव्या जोशी, रवि ठाकुर, हर्षित, आयुष, सिमरन, आयुषी यादव, देवेश, आश्मी, गौरी जगता, अर्शिका, अंजली भट्ट, शबा रहमान, फैजा राव, महिमा, रणजीत सिंह, हर्ष कश्यप, शिवा, बिट्टू, आर्यन शर्मा, मयंक यादव, मुकुल सिंह, विशाल बंसल, गौरव बंसल, मुस्कान मलिक, प्रीति तिवारी सहित अनेक छात्र छात्र-छात्रा उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − 7 =