गुरुकुल महाविद्यालय प्रकरण में आर्य समाजियों ने ने निकाली विशाल रैली

Politics

अपने ही मंत्री कौशिक के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं ने लगाए नारे  हरिद्वार 23 फरवरी। गुरुकुल महाविद्यालय का मामला दिन प्रतिदिन तूल पकड़ता जा रहा है। गुरुकुल महाविद्यालय की अरबों की भूमि को बचाने के लिए अब देश के कोने-कोने से आर्य समाज के पदाधिकारी व लोग जुटना शुरू हो गए हैं। इसी कड़ी में रविवार को पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आर्य समाज के वरिष्ठ संतों व पदाधिकारियों के नेतृत्व में विशाल जुलुस निकाला गया। जुलुस में स्थनीय विधायक व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के खिलाफ गुरुकुल महाविद्यालय की जमीन हड़पने के लिए षडयंत्र रचने का आरोप लगाते हुए जुकर नारेबाजी हुई। साथ ही मंत्री मदन कौशिक को बर्खास्त करने की मुख्यमंत्री से मांग की गई। आर्य समाज के लोगों ने चेतावनी देते हुए कहाकि यदि दस दिनों के अंदर मंत्री मदन कौशिक को बर्खास्त नहीं किया गया तो वे और बड़ा आंदोलन करने का बाध्य होंगे। जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी। इस अवसर पर भाजपा के हरिद्वार ग्रामीण से विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने कहाकि शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक गुरुकुल महाविद्यालय की अरबों रुपये की जमीन को हड़पना चाहते हैं। मंत्री की शह पर ही गुरुकुल महाविद्यालय में विवाद उत्पन्न हुआ है। पूर्व में भी मंत्री की शह पर महाविद्यालय में कब्जे के प्रयास किए जा चुके हैं। कहाकि यदि प्रदेश सरकार ने दस दिनों के अंदर मंत्री मदन कौशिक को बर्खास्त नहीं किया तो देश के कोने-कोने में रह रहे आर्य समाज के लोग इकट्ठा होकर मंत्री के लिए आंदोलन चलाएंगे। जिसकी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी। उन्होंने कहाकि मंत्री के कृत्यों केवल कारण सरकार की छवि खराब हो रही है। सरकार को सत्य के लिए मामले की सीबीआई व सीबीसीआईडी जांच करानी चाहिए। इस प्रदर्शन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं, एबीवीपी, किसान यूनियन आदि ने भी अपना समर्थन दिया। रैली गुरुकुल महाविद्यालय से आरम्भ होकर सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय तक पहुंची। इस दौरान बड़ी संख्या में हाथों में आर्य समाज का झंडा लिए लोग दुपहिया व चौपहिया वाहनों पर मौजूद थे। साथ ही बड़ी संख्या में पैदल चलकर भी लोगों ने शिरकत की। रैली करीब एक किलोमीटर लम्बी होने के कारण सड़क पर जाम की स्थिति बन गयी। रैली की खास बात यह रही की रैली में बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने शिरकत की और अपने ही मंत्री के खिलाफ जमकर नारे लगाए। गुरुकुल बचाओ संघर्ष समिति के समिति के संरक्षक और आर्य प्रतिनिधि सभा उत्तराखंड के प्रधान गोविंद भंडारी, साध्वी प्राची, आचार्य कर्मवीर, स्वामी विश्वानंद, स्वामी भैरवानंद, इंदूबाला आर्य, मुख्य अधिष्ठाता बलवंत सिंह चौहान, कार्यकारी अध्यक्ष नंदलाल, फेरूपुर, कटारपुर से आर्य प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष डा. श्याम सिंह, राजेन्द्र सत्यार्थी, दया सिंह आर्य मास्टर अशोक कुमार, देवेंद्र राठी समेत हजारों की संख्या में आर्य समाज से जुड़े  कई लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 2 =