हरिद्वार जनपद में मुस्लिम आबादी वृद्धि दर करीब 40 फीसद हरिद्वार जनपद की डेमोग्राफी बिगाड़ी जा रही है साजिश के तहत -संजय गुप्ता

Uncategorized

हरिद्वार 29 जून भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता पूर्व विधायक संजय गुप्ता ने कहा कि साजिश के तहत हरिद्वार जनपद में मुस्लिमों की आबादी तेजी के साथ बढ़ाई जा रही है जिससे हरिद्वार जनपद की डेमोग्राफी साजिश के तहत बिगाड़ी जा रही है जो तीर्थ नगरी हरिद्वार के लिए एक खतरनाक संकेत है पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि इस बार 2022 के विधानसभा चुनाव जिस तरह से हुए और जिस तरह से धार्मिक आधार पर एक धर्म समुदाय से जुड़े वर्ग ने वोटों का ध्रुवीकरण किया उससे साफ है कि यह सब राजनीति के तहत हिंदू धर्म को नष्ट करने के लिए किया जा रहा है संजय गुप्ता ने कहा कि हरिद्वार हिंदुओं की धार्मिक आस्था का केंद्र रहा है। सनातन धर्म के प्रमुख केंद्रों में एक, जहाँ सभी मठ, अखाड़े और आध्यात्मिक केंद्र स्थित हैं। यह हिंदुओं के सबसे बड़े धार्मिक कर्मकांडो की पवित्र भूमि है। हिन्दू यहाँ अस्थि विसर्जन से लेकर जनेऊ संस्कार और काँवड़ के लिए गंगा जल तक लेने आते हैं।

उन्होंने कहा कि लेकिन अब धीरे-धीरे एक साजिश में तहत पूरे हरिद्वार शहर को मुस्लिम आबादी ने घेर लिया है। गंगा किनारे की इस पावन भूमि में साजिश के तहत बेतहाशा मुस्लिम आबादी बढ़ती जा रही है। आँकड़ों के मुताबिक हरिद्वार जनपद की मुस्लिम आबादी हर दस साल में 40 फीसद की गति से बढ़ रही है। ये आँकड़े बेहद चौकाने वाले और चिंताजनक हैं।

उन्होंने कहा कि अनुमान के अनुसार हरिद्वार में मुस्लिम समुदाय की आबादी अब यहाँ की कुल आबादी की 39 फीसद के आसपास हो गई है और इस साल के अंत तक 22 लाख के करीब हो जाएगी। हरिद्वार को पूरी तरह घेरने के बाद अब मुस्लिम समुदाय अवैध रूप से गंगा किनारे वन विभाग और कैनाल की जमीन पर बसने लगा है।
पूर्व विधायक संजय गुप्ता ने कहा कि
सीमांत जिलों से हुई घुसपैठ
विशेषज्ञों की मानें तो हरिद्वार जिले में बढ़ती मुस्लिम आबादी के पीछे अवैध घुसपैठ और सीमांत जिलों से होने वाला पलायन है। दरअसल हरिद्वार जिले के साथ यूपी के बिजनौर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, सहारनपुर जिला लगते हैं। इन जिलों में मुस्लिम आबादी बड़ी संख्या में है।
पूर्व विधायक गुप्ता ने कहा कि
उत्तराखंड बनते ही हरिद्वार जिले में उद्योगों का जाल बिछा, जिसमें लेबर सप्लाई करने वाले ठेकेदारों ने काम की तलाश में आए यूपी के जिलों के मुस्लिमों की भर्ती बड़े पैमाने पर की। इसके अलावा गंगा और उसकी सहायक नदियों में खनन के काम में बिहार से आए मजदूर यहाँ आकर नदी किनारे बसते चले गए। उन्होंने उत्तराखंड सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को एक पत्र लिखकर मांग की कि हरिद्वार में एक धर्म विशेष के लोगों की जिस तरह से साजिश के तहत आबादी बढ़ाई जा रही है उसकी उच्च स्तरीय जांच की जाए पूर्व विधायक संजय अग्रवाल ने मुख्यमंत्री द्वारा उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता लागू करने के फैसले को जरूरी बताया और कहा कि यदि यह फैसला लागू नहीं हुआ तो हरिद्वार जनपद समेत पूरे उत्तराखंड का जनसांख्यिकी संतुलन बिगड़ जाएगा जो राज्य के हित के लिए नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − 15 =