स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने किया शारदीय नवरात्रि में कन्या पूजन

Uncategorized

हरिद्वार 14 अक्टूबर आज स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने संयुक्त रूप से कनखल में दिव्य योग मंदिर में शारदीय नवरात्रि के समापन तथा विजयदशमी दशहरे की पूर्व संध्या के अवसर पर कन्या पूजन किया कन्या पूजन से पूर्व हवन किया गया और गायत्री हवन का समापन हुआ स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने कन्याओं के चरण धोए उन्हें टीका लगाया माला पहनाई और उन्हें वस्त्र उपहार और दक्षिणा भेंट की और भोजन कराया 9 दिन तक विधि विधान से चले नवरात्र पूजन का आज वैदिक विधि विधान के साथ समापन हुआ इस अवसर पर स्वामी रामदेव कनखल के दिव्य मंदिर कृपालु बाग में आकर भावुक खो गए और पुराने दिनों की यादों में खो गए पुराने दिनों की याद ताजा करते हुए उन्होंने अपने कई मार्मिक संस्मरण सुनाए उन्होंने कहा कि यहां पर जब हम लोग आए थे तब हमारे पास ना पैसा था और ना ही कोई संसाधन थे हमने मिट्टी के गारे से कमरे बनाए और कच्चे कमरों में रहे गौशाला बनाई अभावों की जिंदगी व्यतीत कर हमने आयुर्वेद और योग के क्षेत्र में काम किया और तिनका तिनका जोड़ कर आज विश्व का सबसे बड़ा आयुर्वेद और योग का संस्थान बनाया है यह सब ईश्वर कृपा और हमारे पुरुषार्थ के कारण हुआ हमारे साथी और हम सब के लाडले आचार्य बालकृष्ण जी और कर्मवीर जी तथा राम भरत सब ने मिलकर इस दिव्य मंदिर से शुरुआत की उन्होंने कहा कि विजयदशमी का पर्व बुराई पर जीत की विजय है और और हमें आतंकवाद, महंगाई, बेरोजगारी पर विजय प्राप्त करनी है उन्होंने कहा कि नवरात्रि शक्ति उपार्जन का पर्व है आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि हमने आज 9 दिन तक चले गायत्री उपासना नवरात्रि उपासना का समापन किया इस अवसर पर कन्या पूजन किया गया और आचार्य बालकृष्ण के साथ स्वामी रामदेव ने कन्याओं के ऊपर पुष्प वर्षा की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + nine =